CURRENT NEWS

BA प्रथम वर्ष में प्रवेश हेतु सूचना जैन विश्व भारती विश्वविद्यालय लाडनू जिला नागौर से दूरस्थ शिक्षा माध्यम से आगामी वर्ष 2019 में होने वाली परीक्षा हेतु MA व् BA प्रथम वर्ष में प्रवेश शुरू है, कार्
फ्री दस दिवसीय कम्पुटर प्रशिक्षण दिया जा रहा है साथ ही दस दिन के बाद सरकारी प्रमाण पत्र भी दिया जायेगा , प्रवेश के लिए आधार कार्ड या उसके नम्बर लेकर तुरंत सम्पर्क करे
जैन विश्वभारती डीम्ड यूनिवर्सिटी के bap, BA, MA के परवेश चालू है सेंटर गुडामालानी रहेगा
सितेम्बर 2017 में आयोजित RS-CIT परीक्षा के प्रमाण पत्र ऑफिस में उपलब्ध है
सरकारी परीक्षाओ की ऑनलाइन तैयारी करने हेतु www.dikshacollege.in पर क्लिक करे या अधिक जानकारी 9694990441 श्री केके यादव सर से प्राप्त करे
कोटा ओपन विश्वविधयालय के BAP,B.A, M.A (All Subject), DCA,PGDCA,MBA,MSW, एडीशनल/अतिरिक्त विषय मे B.A करने हेतु फॉर्म भरने की अंतिम दिनांक 16 अक्टूबर 2018 है
कोटा ओपन विश्यविद्यालय के नियमानुसार किसी भी विद्यार्थी को प्रमोट होने के लिए/ अगली कक्षा में प्रवेश लेने के लिए पास होना अथवा परीक्षा में बैठना अनिवार्य नहीं हैं सिर्फ .....
Welcome to Deeksha institute of Higher Education Deeksha institute of Higher Education is home to the talented and the gifted, to those with a passion and a commitment,
RS-CIT के अक्टूबर 2018 बेच में प्रवेश शुरू हो गये है आगामी दीनो आने वाली सरकारी भरती के लिए पात्रता हासिल करने के लिए आज ही संपर्क करे


VISITOR


न्यूज & वीडियो

 NSDC government Project.
(भारत सरकार की योजना के अंतरगर्त स्कॉलर्शिप के साथ सर्टिफिकेट भी)

मालाणी न्यूज
भारत सरकार द्वारा 10 लाख छात्रों को छात्रवृत्ति देने वाली योजना बनाई है। इसके लिए छात्रों को एक माह का कोर्स कर परीक्षा दिलानी होगी। भारत सरकार द्वारा एनएसडीसी स्टार स्कीम रोजगार उन्मुखी कोर्स है जिसमें भारतीय नागरिक जिनका उम्र सीमा 18 वर्ष से 45 वर्ष तक हो आवेदन कर सकते हैं।
कोर्स का समय अवधि 1 महीने की होगी। इसके पश्चात् भारत सरकार द्वारा परीक्षा ली जाएगी। प्राप्त परिणाम के आधार पर भारत सरकार द्वारा स्टूडेंट के खाते में छात्रवृत्ति जमा करेगी। दीक्षा इन्स्टिट्यूट ऑफ हायर एजुकेशन गुडामालानी द्वारा क्षेत्र मे एनएसडी.सी. स्टार स्कीम योजना को किया लागू गया है। संस्था के हेड  डॉ राजेंद्र सिंह सोलंकी ने बताया कि की इच्छुक अभ्यर्थी कार्यालय समय मे आकर इस से संबंधित विस्तृत जानकारी हासिल कर फार्म फील-अप कर सकता है उन्होने आगे बताया की आईसेक्ट द्वारा गुडामालानी क्षेत्र मे सिर्फ़ दीक्षा इन्स्टिट्यूट ऑफ हायर एजुकेशन को ही प्रशिक्षण हेतु  अधिकृत किया गया है अतः इस क्षेत्र मे निवास कर रहे छात्र केवल मात्र दीक्षा इन्स्टिट्यूट ऑफ हायर एजुकेशन गुडामालानी से ही संपर्क करे

विस्तृत जानकारी के लिए निम्नलिखित वेबसाइट का भी अवलोकन किया जा सकता है

http://egyan.org/AISECTStarScheme/index.aspx  http://www.nsdcindia.org/hi/index.html   http://nsdcindia.org/   http://trainingcentre.nsdcindia.org/

 इसमें छात्रवृत्ति की तैयारी कैसें इसकी जानकारी दी जाएगी। साथ छात्रों की अन्य जिज्ञासाओं को शांत किया जाएगा।

योजना से संबंधित जानकारी के लिए कुछ उपयोगी वीडियो लिंक है जिसे भी देखा जा सकता है 

https://www.youtube.com/watch?v=9AeqQbcyDug  

https://www.youtube.com/watch?v=7A4jphYeI7c 
https://www.youtube.com/watch?v=Yt9h5CPnxyA 
https://www.youtube.com/watch?v=XjYuU_eKkPU

 

https://www.youtube.com/watch?v=cjtB3j1OskY

 

-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------

नई दिल्ली : माननीय वित्तमंत्री श्री पी. चिंदबरम द्वारा राष्ट्रीय कौशल प्रमाणीकरण और नगद पुरस्कार योजना का शुभारंभ किया जा चुका है। इस योजना को पुरे भारत में लागू किया जाना है। योजना जिसका नाम स्टार स्कीम का उद्देश्य उन युवाओं को वित्तीय मदद देना है जो अपने करियर के विकास के लिए प्रशिक्षण लेना चाहते हैं। वित्त मंत्री ने योजना का शुभारंभ करते हुए बताया कि यह देश की सबसे महत्वाकांक्षी योजनाओं में से एक है। राष्ट्रीय स्किलिंग मिशन की परिकल्पना के अनुसार 50 करोड़ कुशल भारतीय इस योजना के साथ 2022 तक जुड़ जाएंगे। जिसमें से 15 करोड़ युवकों का योगदान निजी क्षेत्रों एवं राष्ट्रीय कौशल विकास निगम द्वारा दिया जाएगा। वित्तमंत्री के अनुसार योजना के लिए किसी भी तरह की वित्तीय तंगी नहीं आने दी जाएगी। ग्रामीण  विकास मंत्री श्री जय राम रमेश ने बताया कि सभी मंत्रालयों द्वारा इस योजना को पूरा समर्थन है। हमारा ध्यान केवल संख्या पर नहीं है बल्कि उच्च प्रशिक्षण एवं दूरगामी रोजगार की गुणवत्ता बनाए रखने पर है।
योजना आयोग के उपाध्यक्ष श्री मोंटेक सिंह अहलुवालिया के अनुसार इस योजना के तहत रोजगार उन्मुख प्रशिक्षण करवाए जाएंगे जिससे कौशल विकास परिषदों की सक्रिय भागीदारी होगी। इस योजना को एन.एस.डी.सी. के अंतर्गत लागू किया जा चुका है। प्रशिक्षण की गुणवत्ता विश्वस्तरीय बनाए रखने के लिए छात्रों को टेस्ट उत्तीर्ण करने के बाद प्रमाण पत्र जारी किया जाएगा। अत: छात्रवृत्ति केवल उत्तीर्ण छात्रों को ही दी जाएगी। शुरूआत में योजना के ंअंतर्गत आईटी, ऑटोमोबाइल, सुरक्षा, टेलिकॉम, र - एवं आभूषण, रिटेल और बैंकिंग सम्बन्धित प्रशिक्षण दिया जाएगा।
गौरतलब है कि स्वतंत्रता दिवस पर अपने भाषण में माननीय प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह जी ने भी इस योजना के बारे में बताया था।