CURRENT NEWS

BA प्रथम वर्ष में प्रवेश हेतु सूचना जैन विश्व भारती विश्वविद्यालय लाडनू जिला नागौर से दूरस्थ शिक्षा माध्यम से आगामी वर्ष 2019 में होने वाली परीक्षा हेतु MA व् BA प्रथम वर्ष में प्रवेश शुरू है, कार्
फ्री दस दिवसीय कम्पुटर प्रशिक्षण दिया जा रहा है साथ ही दस दिन के बाद सरकारी प्रमाण पत्र भी दिया जायेगा , प्रवेश के लिए आधार कार्ड या उसके नम्बर लेकर तुरंत सम्पर्क करे
जैन विश्वभारती डीम्ड यूनिवर्सिटी के bap, BA, MA के परवेश चालू है सेंटर गुडामालानी रहेगा
सितेम्बर 2017 में आयोजित RS-CIT परीक्षा के प्रमाण पत्र ऑफिस में उपलब्ध है
सरकारी परीक्षाओ की ऑनलाइन तैयारी करने हेतु www.dikshacollege.in पर क्लिक करे या अधिक जानकारी 9694990441 श्री केके यादव सर से प्राप्त करे
कोटा ओपन विश्वविधयालय के BAP,B.A, M.A (All Subject), DCA,PGDCA,MBA,MSW, एडीशनल/अतिरिक्त विषय मे B.A करने हेतु फॉर्म भरने की अंतिम दिनांक 16 अक्टूबर 2018 है
कोटा ओपन विश्यविद्यालय के नियमानुसार किसी भी विद्यार्थी को प्रमोट होने के लिए/ अगली कक्षा में प्रवेश लेने के लिए पास होना अथवा परीक्षा में बैठना अनिवार्य नहीं हैं सिर्फ .....
Welcome to Deeksha institute of Higher Education Deeksha institute of Higher Education is home to the talented and the gifted, to those with a passion and a commitment,
RS-CIT के अक्टूबर 2018 बेच में प्रवेश शुरू हो गये है आगामी दीनो आने वाली सरकारी भरती के लिए पात्रता हासिल करने के लिए आज ही संपर्क करे


VISITOR


स्कीम के बारे मे

 

  1. 1.       स्टार का पूरा नाम क्या है?
     स्टार - स्टेंडर्ड टेनिंग असेसमेंट रिवार्ड  (Standard Training Assessment Reward)
  2. 2.       स्टार योजना किस बारे में है और इसके उद्धेष्य क्या हैं?
    स्टार योजना का उद्धेष्य नये कौषल को प्राप्त करने या वर्तमान कौषल का स्तर बढ़ाने के लिए कार्य करने वालों को आर्थिक मदद देना है। इस योजना का उद्धेष्य युवा वर्ग के कौषल विकास हेतु आर्थिक आधार प्रदान करना है। प्रशिक्षण में सफल विद्यार्थियों को आर्थिक मदद दी जायेगी।
  3. 3.       इस योजना का लक्ष्य क्या है?
    राष्ट्रीय स्तर पर सितम्बर 2013 से प्रारंभ करके एक वर्ष के कार्यकाल में दस लाख युवाओं को प्रषिक्षित करना है।
    आईसेक्ट को विभिन्न सेक्टर में करीब एक लाख युवाओं का लक्ष्य दिया गया है।
  4. 4.       यह योजना किसके द्वारा प्रारंभ की गई है?
    यह योजना वित्त मंत्रालय भारत सरकार के द्वारा राष्ट्रीय कौषल विकास निगम (NSDC) के द्वारा अपने प्रशिक्षण और मूल्यांकन प्रदायकर्ताओं के माध्यम से लागू की जायेगी।
  5. 5.       इस योजना की वैद्यता कब तक है?
    यह योजना अक्टूबर 2014 तक वैद्य है।
  6. 6.       इस योजना के लिए न्युनतम योग्यता क्या है?
    इस योजना की अर्हताएं -
    अ -   यह योजना भारतीय नागरिकों के लिए है।
    ब -   विद्यार्थी की उम्र 18 वर्ष से ऊपर होनी चाहिए और उसने एनएसडीसी (NSDC) के किसी     मान्यता प्राप्त प्रशिक्षण प्रदाय कर्ता से प्रशिक्षण लिया होना चाहिए।
       प्रत्येक सेक्टर हेतु एवं जॉब हेतु न्यूनतम एवं अधिकतम शैक्षणिक योग्यता नीचे टेबल में दी गई है-
  7. 7.       इस योजना के लिए न्यून्तम और अधिकतम प्रशिक्षण अवधि कितनी है?
    न्यूनतम प्रशिक्षण अवधि एक माह है हालांकि विद्यार्थी की आवश्यकताश्यकता अनुसार शाखा प्रबंधक इस अवधि को बढ़ा भी सकते हैं। 
  8. 8.       प्रतिदिन कितने घंटे का प्रशिक्षण देना अनिवार्य है?
    प्रतिदिन न्यूनतम प्रशिक्षण अवधि का कोई बंधन नहीं है, विद्यार्थी की योग्यता के अनुसार इसे निर्धारित किया जा सकता है।
  9. 9.       इसमें सफल होने पर प्रतियोगी को क्या मिलेगा?
                    निर्धारित परीक्षा पास करने के पश्चात् विद्यार्थी को निम्नलिखित प्रदान किया जायेगा-
                    अ -   आर्थिक सहायता
                    ब -   भारत सरकार, सेक्टर स्किल कॉउंसिल एवं प्रशिक्षण प्रदायकर्ता का संयुक्त प्रमाण-पत्र जो   कि उस सेक्टर के जॉब के लिए मान्यता प्राप्त होगा।
                    स -   विश्वविद्यालय का प्रमाण-पत्र।
  10. 10.   क्या यह प्रमाण-पत्र मान्यताप्राप्त होगा ? और कार्य दिलाने में मदद करेगा?
      यह प्रमाण-पत्र व्यावसायिक क्षेत्र द्वारा बहुत सम्मान से देखा जायेगा और प्रशिक्षु के जॉब प्राप्ति में मदद करेगा।
  11. 11.   क्या प्रशिक्षु को प्रशिक्षण के लिए कुछ पैसे देने होंगे?
        जी हाँ। विद्यार्थी को प्रारंभ में ही सिर्फ एक बार फीस (मूल्यांकन एवं सर्विस टेक्स मिलाके) भरनी होगी जो कि पूरे प्रशिक्षण की अवधि तक मान्य होगी। प्रत्येक कोर्स हेतु यह राशि शाखा प्रबंधक को ज्ञात है वह विद्यार्थी और पालकों को योग्य जानकारी प्रदान करेंगे।
  12. 12.   प्रत्येक कोर्स के लिए आधार संरचना एवं टीचिंग स्टाफ हेतु मापदण्ड क्या हैं?
       प्रत्येक सेक्टर के अनुसार शाखा प्रबंधक यह सुनिष्चित करें कि उनके पास पाठ्यक्रम और मूल्यांकन के संदर्भ में योग्य आधारभूत संरचना और प्रशिक्षक उपलब्ध हैं।
  13. 13.   अगर विद्यार्थी मूल्यांकन में पास नहीं होता है तो उसकी फीस का क्या होगा?
          यदि विद्यार्थी मूल्यांकन में पास नहीं होता है तो उसकी फीस वापिस नहीं की जायेगी।
  14. 14.   सेक्टर और रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया
  15. 15.   इस योजना के लिए विभिन्न सेक्टर और कोर्सेज कौन से हैं?

सेक्टर स्किल कांउंसिल

जॉब रोल

न्यूनतम शैक्षणिक
योग्यता

अधिकतम शैक्षणिक योग्यता

IT/ITES(NASSCOM)

 

 

 

डोमेस्टिक वाईज़

बारहवीं पास  

किसी भी विषय में स्नात्कोत्तर

डोमेस्टिक वाईज़

बारहवीं पास

किसी भी विषय में स्नात्कोत्तर

डोमेस्टिक डाटा एंट्री ऑपरेटर

बारहवीं पास

कम्प्यूटर साईंस/टेक्नोलॉजी में डिप्लोमा

डोमेस्टिक  ऑपरेटर

बारहवीं पास

कम्प्यूटर साईंस/टेक्नोलॉजी में डिप्लोमा

ऑटोमोटीव स्किल डेवलपमेंट कांउंसिल

मशीनिंग असिस्टेंट

आठवीं पास

आईटीआई

बीएफएसआई सेक्टर स्किल कांउंसिल ऑफ इंडिया

बिज़नेष करेसपोंडेन्ट एण्ड फेसीलेटेटर

दसवीं पास

उपलब्ध नहीं

इलेक्ट्रॉनिक सेक्टर स्किल्स कांउंसिल

सेटटॉप बॉक्स इंस्टालर एण्ड सर्विस
टेक्नीषियन

दसवीं या बारहवीं

ें डिप्लोमा

एग्रीकल्चर सेक्टर स्किल कांउंसिल ऑफ इंडिया

 

 

टेलीविज़जन रिपेयर टेक्नीषियन

दसवीं पास

आईटीआई/डिप्लोमा (इलेक्ट्रॉनिक्स)

बनाना

प्रवेश के लिए कोई बंधन नहीं

उपलब्ध नहीं

गार्डनर

पांचवी पास

उपलब्ध नहीं

रिटेलर्स एसोसिएषन स्किल कांउंसिल ऑफ इंडिया

 

 

 

 

माईक्रो ऐरीगेषन टेक्नीषियन

आठवीं की परीक्षा दी हो या पा

उपलब्ध नहीं

टेक्टर ऑपरेटर

दसवीं की परीक्षा दी हो या पास

उपलब्ध नहीं

शॉप ऑपरेटिंग असिसटेंट

उपलब्ध नहीं

उपलब्ध नहीं

टेनिंग एसोसिएट

दसवीं पास

उपलब्ध नहीं

केशियरसेल्स एसोसिएट

दसवीं पास

उपलब्ध नहीं

टेलीकॉम सेक्टर कांउंसिल

 

कस्टमर केयर एग्ज़क्यूटिव (कॉल सेंटर)

बारहवीं या समकक्ष

किसी भी विषय में स्नातक

सेल्स एग्ज़क्यूटिव (ब्रॉडबेण्ड)

किसी भी विषय में स्नातक

एमबीए (मार्केटिंग)

सिक्युरीटी नॉलेज एण्ड स्किल डेवलपमेंट कांउंसिल

 

आर्मड सिक्यूरिटी गॉर्ड

दसवीं पास

उपलब्ध नहीं

अनआर्मड सिक्यूरिटी गार्ड

आठवीं पास

उपलब्ध नहीं

केपिटल गुड्स स्किल कांउंसिल

 

 

 

वेल्डर

दसवीं पास

आईटीआई/डिप्लोमा/डिग्री इंजीनियरिंग या टेक्नोलॉजी में

फिटर

दसवीं पास

आईटीआई/डिप्लोमा/डिग्री इंजीनियरिंग या टेक्नोलॉजी में     

16.क्या यह योजना वर्तमान में कार्यरत/राजकीय सेवकों के लिए भी उपलब्ध है?
    जी हां, यह योजना प्रत्येक व्यक्ति जो न्यून्तम अर्हताएं रखता है उसके लिए हैं। इसलिए कार्यरत या शासकीय सेवा में नियुक्त व्यक्ति भी इसका लाभ उठा सकता है।

17.    इस योजना में पंजीकरण की प्रक्रिया क्या है?
       न्यून्तम अर्हता प्राप्त विद्यार्थी प्रशिक्षण प्रदाय दाता के पास रेजिस्ट्रेशन कर सकता है। प्रार्थना पत्र www.aisect.org एवं www.aisectonline.com पर उपलब्ध है। इसके माध्यम से विद्यार्थी अपना रेजिस्ट्रेशन कर सकता है। लेकिन रेजिस्ट्रेशन सिर्फ आईसेक्ट सेंटर से ही हो सकता है।

18. विद्यार्थी का पंजीकरण ऑनलाइन होगा या ऑफलाइन ?
        आईसेक्ट सेंटर पर www.aisectonline.com के माध्यम से ऑनलाइन रेजिस्ट्रेशन करना है। तत्पष्चात आईसेक्ट हेड ऑफीस  विद्यार्थी के डेटा को ऑनलाइन एनएसडीसी की स्टार योजना के डाटा बेस में डाल देगा।

19.पंजीकरण की समय सारणी क्या है?
      रेजिस्ट्रेशन के लिए कोई विशेष  माह या सत्र नहीं है, यह योजना अक्टूबर 2013 से सितम्बर 2014 तक लागू है। सभी सेंटर को प्रोत्साहित किया जाता है कि वे विद्यार्थियों के रेजिस्ट्रेशन कराकर इस योजना का लाभ उठायें।

20.क्या इसमें सेवा कर प्रदान करना होगा?
                जी हां। इसमें सेवा कर प्रदान करना होगा जो कि रेजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया में विद्यार्थी से लिया जाये।

2 1.किसी भी कोर्स हेतु न्यूनतम कितने छात्रों का समूह होगा?
         किसी भी कोर्स के लिए न्यूनतम 20 विद्यार्थियों का समूह होना अनिवार्य है।

22. क्या एक विद्यार्थी एक से ज्यादा कार्यों के लिए पंजीकृत हो सकता है?
       स्टार योजना के अन्तर्गत एक विद्यार्थी जीवनकाल में एक बार ही इस योजना का लाभ उठा सकता है। लेकिन एक मूल्यांकन में अनुतीर्ण होने के पश्चात् पुनः फीस भरकर विद्यार्थी उसी सेक्टर में उसी जॉब के लिए या अन्य सेक्टर में (जिसमें वह योग्य हो) अन्य जॉब के लिए आवेदन कर सकता है। अर्थात एक समय में कोई विद्यार्थी एक ही रेजिस्ट्रेशन कर सकता है।


मूल्यांकन

23. मूल्यांकन कौन करेगा?
       एनएसडीसी द्वारा नियुक्त विषय विषेषज्ञ के द्वारा विद्यार्थी का मूल्यांकन किया जायेगा। यह विषेषज्ञ  ट्रैनिंग प्रदान कर्ता से संबंधित नहीं होंगे। इसके लिए एनएसडीसी के पास पृथक विभाग है जिसका प्रशिक्षण प्रदानकर्ता से कोई संबंध नहीं है।

24.  मूल्यांकन किस तरीके से होगा?
           मूल्यांकन का तरीका, अवधि और माध्यम विभिन्न सेक्टर में अलग-अलग तरीके से होगा। कृपया अधिक जानकारी के लिए सेक्टर संबंधित जानकारी देगा।

25. परीक्षा का कठिनाई का स्तर कितना होगा?
         परीक्षा का मूल्यांकन स्तर उच्च होने का अनुमान है। आईसेक्ट द्वारा विभिन्न पाठ्यक्रमों में यह जानने के लिए बैच प्रारंभ किये जा रहे हैं।

26.मूल्यांकन के लिए परीक्षा के लिए सेंटर कहां होगा?
                आईसेक्ट के सेंटर ही उस बैच के लिए परीक्षा का सेंटर होंगे, बषर्ते न्यूनतम 20 विद्यार्थियों का समूह हो।

27. अगर मूल्यांकन में विद्यार्थी अनुत्तीर्ण होता है तो क्या होगा?
        अगर विद्यार्थी मूल्यांकन में अनुतीर्ण होते हैं तो पुनः फीस देकर वे मूल्यांकन के लिए बैठ सकते हैं, एक विकल्प के रूप में आईसेक्ट एक कम कठिनाई स्तर की परीक्षा लेगी जिसे पास करने पर सी0बी0आर0यू0 (सी.वी. रमन विश्वविधयालय) का प्रमाण-पत्र मिलेगा।

28.  योजना के अन्तर्गत किस तरह का प्रमाण-पत्र दिया जायेगा?
      भारत सरकार, सेक्टर स्किल कांउसिल एवं प्रशिक्षण प्रदायकर्ता के संयुक्त लोगो वाला एक सुरक्षित प्रमाण-पत्र प्रदान किया जायेगा। नमूने का प्रमाण-पत्र संलग्न है।

29. मूल्यांकन के कितने दिनों बाद प्रमाण-पत्र प्राप्त होगा?
        विद्यार्थी द्वारा सफलतापूर्वक मूल्यांकन पूर्ण करने पर अगले 20 दिनों में विद्यार्थी को प्रमाण-पत्र प्राप्त हो जायेगा, अर्थात मूल्यांकन दिवस के दिनांक से 20 दिनों में यह प्रमाण-पत्र उपलब्ध हो जायेगा।

30.  क्या आईसेक्ट इस योजना में कुछ अध्ययन सामग्री प्रदान करेगा?
         योग्य अध्ययन सामग्री और संदर्भ सामग्री (अधिकांषतः ऑनलाइन) आईसेक्ट द्वारा विभिन्न पाठ्यक्रमों हेतु प्रदान की जायेगी। संबंधित पाठ्यक्रम में आदर्ष प्रष्न-पत्र, ऑनलाइन मूल्यांकन कैसे देना है एवं ऑनलाइन प्रेक्टिस पेपर शामिल हैं।
अनिवार्यता

31. क्या इस योजना के लिए आधार कार्ड का होना अनिवार्य है?
         जी हां, इस योजना के लिए आधार कार्ड का होना अनिवार्य है। आधार कार्ड न होने वाले विद्यार्थी NPR दे सकते हैं और प्राथमिकता से उनका आधार कार्ड बनवाया जायेगा।

32. अगर विद्यार्थी के पास आधार कार्ड न हो तो?
          अगर विद्यार्थी के पास आधार कार्ड न हो तो उसके आईसेक्ट सेंटर पर नामांकन के तुरंत बाद आईसेक्ट आधार कार्ड बनवा के देगा।

33. इस योजना में आधार कार्ड का क्या महत्व है?
          आधार कार्ड के आधार पर एनएसडीसी विद्यार्थी के लिए विशेष  नम्बर प्रदान करेगा। यह विशेष  नम्बर विद्यार्थी की छात्रवृत्ति के पैसे सीधे बैंक के खाते में (DBT) जमा करने हेतु प्रयुक्त किया जायेगा।

34. विद्यार्थी के पास किस तरह का बैंक का खाता होना चाहिए ?
          यह अनिवार्य है कि विद्यार्थी का खाता बॅंक ऑफ इंडिया में हो। (बॅंक ऑफ इंडिया का ख़ाता खोलने के लिए इस सेंटर को अधिकृत करने की कार्यवाही की जा रही है)

35. क्या विद्यार्थी को कुछ कागजात हस्ताक्षरित करने होंगे ?
         जी हां, रजिस्ट्रेशन के समय विद्यार्थी को लिखित में देना होगा कि उसे उसकी छात्रवृत्ति के पैसों में से प्रशिक्षणकर्ता को निर्धारित रकम काट लेने पर कोई आपत्ति नहीं होगी। इस संदर्भ में एक मानक प्रपत्र आईसेक्ट शाखा प्रबंधक को विभिन्न जॉब रोल्स के हिसाब से प्रदान किया गया है।

36. क्या बीस विद्यार्थियों का बैच अगल-अलग जॉब  के लिए मान्य है?
          जी नहीं, मूल्यांकन के लिए विषय विषेषज्ञ 20 विद्यार्थियों की एक विशेष  बैच के लिए ही आयेंगे। अतः पूरे 20 विद्यार्थी एक ही विषय और कौषल के होना अनिवार्य

About Star Scheme

Sector Skill Councils are national partnership organizations that bring together all the stakeholders – industry, labor and the academia, for the common purpose of workforce development of particular industry sectors. The SSCs will operate as autonomous bodies. Funding is initially done by NSDC & Industry. As they grow, SSCs become self-sustaining organizations.

The objective of this Scheme is to encourage skill development for youth by providing monetary rewards for successful completion of approved training programs. Specifically, the Scheme aims to:

  • encourage standardization in the certification process and initiate a process of creating a registry of skills; and
  • Increase productivity of the existing workforce and align the training and certification to the needs of the country.
  • Provide Monetary Awards for Skill Certification to boost employability and productivity of youth by incentivizing them for skill trainings
  • Reward candidates undergoing skill training by authorized institutions at an average monetary reward of ₹ 10,000 (Rupees Ten Thousand) per candidate.
  • Benefit 10 lakh youth at an approximate total cost of ₹ 1,000 Crores.

Applied Sector Skill Council:

1.       Rubber Skill Development Council

2.      BFSI Sector Skill Council of India

3.      Automotive  Skill Development Council

4.      IT/ITes Sector Skills Council

5.      Gems& Jewellery Sector Skill Council

6.      Construction Skill Development Council of India

7.      ASCI(Agriculture sector Skill Council of india)

Training Duration:

Training programs will be for a minimum of 30 days duration and will include training on social skills like health, hygiene, communication skills etc. It will be ensured that assessments are planned by SSCs only after 30 days of commencement of the training. The 30 days duration of training may also include On the Job training, Internships etc. if required

Eligible Beneficiaries

In line with the objectives stated above, this Scheme is applicable to any candidate of Indian nationality who:

·         Undergoes skill development training in an eligible sector by an eligible training provider.

·         Is availing of this monetary award for the first and only time during the operation of this Scheme.

The Scheme is currently meant only for candidates availing themselves of skill development trainings from eligible providers. Recognition of Prior Learning may be covered later during the currency of the Scheme.

Eligible Providers and Monetary Award for Certification:

 All institutions, government or private (who, during the last two years, have been selected by any State Government or any Ministry of the Government of India to implement any Government funded or sponsored Scheme), or are NSDC partners, shall be deemed to be part of the approved list of training providers under this Scheme. All such deemed approved training providers will need to get each training course they propose to offer, aligned to NOS and QPs of various eligible job roles corresponding to Levels I to IV of the NVEQF/NSQF.

Eligibility:-

 Age- Min. 18 yrs

 Compulsory Education- High School/10th class

 Indian Citizen

 Unique Identity Card no. (Adhaar Card)

Students Limit-: No student Limit

Limitations-: Only Indian Citizens 

Beneficiaries-: On The Successful training, The Candidates receives a monetary award with NSDC Certificate approved by Central Govt. of India.

Mandatory-: The student should have UID (Adhaar Card) to enroll for the program,

If ADHAR card facility is not available in you city than fill application form with excel sheet for candidates.

(Application form & Excel sheet format are attached below)

How to Apply-:

Step 1-: Send the complete form with Enrollment fees to us with all mandatory details. I.e. Adhaar

card, 10th marks card and bank undertaking for Bank auto debit.

Step2-: Books and Id card will issue.

Step-2-: After The successful completion of training program the all data will be re consolidated on

ERP and send Further to NSDC.

Step-3-: The payment process undergoes in 40-50 working days.

Assessment Fee:

Assessment Fees charged to candidates for each assessment will be capped as follows:

  • Courses aligned to shop floor job roles in manufacturing – maximum ₹ 1,500
  • All other Courses – maximum ₹ 1,000

·         In order to enable the financially disadvantaged to use the award money to fund a part of the training cost, the training providers will allow candidates to pay part of the course fee (minimum 25% of the prescribed fee) and the balance will be paid to the training provider from the monetary award whenever the candidate is eligible for its receipt. However this amount shall not exceed the total amount that the candidate is eligible for. At the time of enrollment for the course, the trainee will have to pay some part of the course fee (minimum 25% of the prescribed fee), so that the candidate has a sustained interest in the completion of the course. The assessment fee of Rs. 1000/- will be collected by us in full at the time of enrolment. This money collected from the student shall be further transferred electronically to BFSI on the same day.

Admission Process :

·         The candidate can enroll in any course from the list of registered courses in specified high demand sectors. The candidate can pursue the course with any of the approved training providers.

·         The details of the student shall then be entered in to the SDMS database along with the (UID- Unique Identification Number) UID/NPR number (or if neither is available, the mobile number of the candidate), and contact details. The training provider will facilitate the enrolment of the candidate in UIDAI/NPR Scheme and update the mobile number with the UID/NPR number.

·         Bank details of such candidates shall be mandatorily taken at the time of registration, or opening of account.